Followers

Copyright

Copyright © 2022 "मंथन"(https://www.shubhrvastravita.com) .All rights reserved.

सोमवार, 15 अगस्त 2022

“हाइकु”



खुला मैदान 

बारिश की बूँदों में

वृक्षों का स्नान ।


पावन बेला

हर घर फहरा

तिरंगा प्यारा ।


मन मयूर 

“जन गण मन” को

गर्व से गाएं ।


मांओं के लाल

स्वतंत्रता निमित्त 

हुए क़ुर्बान ।


राष्ट्र की नींव

निस्पृही बलिदानी

वीरों को नमन ।


आज़ादी पर्व 

अमृत महोत्सव 

जय भारत ।


***

8 टिप्‍पणियां:

  1. राष्ट्र की नींव

    निस्पृही बलिदानी

    वीरों को नमन ।

    वीरों को सत सत नमन
    आप को भी स्वतंत्रता दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं 🙏

    जवाब देंहटाएं
    उत्तर
    1. स्वतंत्रता दिवस की हार्दिक शुभकामनाएँ एवं बधाई कामिनी जी ! जय हिन्द ! जय भारत!

      हटाएं

  2. जी नमस्ते ,
    आपकी इस प्रविष्टि् के लिंक की चर्चा कल सोमवार (१५-०८ -२०२२ ) को 'कहाँ नहीं है प्यार'(चर्चा अंक-४५२३) पर भी होगी।
    आप भी सादर आमंत्रित है।
    सादर

    जवाब देंहटाएं
    उत्तर
    1. चर्चा मंच पर सृजन को सम्मिलित करने के लिए हार्दिक आभार अनीता जी !

      हटाएं
  3. उत्तर
    1. आपकी सराहना सम्पन्न प्रतिक्रिया के लिए हार्दिक आभार गोपेश जी सर ! सादर वन्दे !

      हटाएं
  4. देशभक्ति से परिपूर्ण सुंदर हाइकु।

    जवाब देंहटाएं
  5. सराहना सम्पन्न प्रतिक्रिया के लिए हार्दिक आभार ज्योति जी !

    जवाब देंहटाएं

मेरी लेखन यात्रा में सहयात्री होने के लिए आपका हार्दिक आभार 🙏

- "मीना भारद्वाज"