Followers

Copyright

Copyright © 2023 "मंथन"(https://www.shubhrvastravita.com) .All rights reserved.

गुरुवार, 29 दिसंबर 2022

“स्वागत”


आज लगे कल की सी बात,

सरदी गरमी और बरसात ।

गोरखधन्धों में गुजर गया , 

यह साल भी बीत गया।


दहलीज़ पर आन खड़ा ,

साथी पुराना भेस नया ।

स्वागत का थाल सजाएँ ,

कुछ सुने और कुछ सुनाएँ।  


सारे कर्तव्य हमारे लिए ,

कुछ तुम भी तो निभाओ ।

सदा अपनी ही नहीं ,

औरों की भी सुनते जाओ।


नाराजगी तुमसे बहुत है ,

उम्मीद है समझ ही लोगे ।

भूल कर अपनी सुविधा ,

सच्चे मीत बन ही सकोगे ।


कहना क्या और सुनना क्या है ,

तुमसे बस इतना कहना है ।

दीन दुखी को गले लगा कर ,

सब से सुख साझा करना है ।


🍁

22 टिप्‍पणियां:

  1. कहना क्या और सुनना क्या है ,

    तुमसे बस इतना कहना है ।

    दीन दुखी को गले लगा कर ,

    सब से सुख साझा करना है ।

    बहुत ही सुन्दर शुभकामना
    आपको भी नव वर्ष की हार्दिक शुभकामनाएं मीना जी 🙏

    जवाब देंहटाएं
  2. सृजन को ऊर्जा प्रदान करती शुभेच्छा सम्पन्न प्रतिक्रिया के लिए हार्दिक आभार कामिनी जी!शुभकामनाओं सहित सादर सस्नेह वन्दे ।

    जवाब देंहटाएं
  3. आओ उम्मीद के सफ़र पर चलते हैं
    ओ साथी! मेरे नवीन पलों थाम लो
    चलो हम ज़िंदगी का रंग बदलते हैं..।
    जी दी,
    बेहद सुंदर और प्रेरक रचना.
    नववर्ष मंगलमय हो दी।
    सस्नेह प्रणाम।
    -----
    जी नमस्ते,
    आपकी लिखी रचना शुक्रवार ३० दिसंबर २०२२ के लिए साझा की गयी है
    पांच लिंकों का आनंद पर...
    आप भी सादर आमंत्रित हैं।
    सादर
    धन्यवाद।

    जवाब देंहटाएं
    उत्तर
    1. आओ उम्मीद के सफ़र पर चलते हैं
      ओ साथी! मेरे नवीन पलों थाम लो
      चलो हम ज़िंदगी का रंग बदलते हैं..।
      आशाओं और उम्मीदों के दीये रोशन करती स्नेहिल अभिव्यक्ति के लिए असीम आभार श्वेता! पाँच लिंकों का आनन्द में सृजन को सम्मिलित करने के बहुत बहुत धन्यवाद । नववर्ष मंगलमय हो 💐 सस्नेह…।

      हटाएं
  4. सदा अपनी ही नहीं ,

    औरों की भी सुनते जाओ।
    सबसे बड़ा एवं मुश्किल काम दूसरों की सुनना...
    कहना क्या और सुनना क्या है ,

    तुमसे बस इतना कहना है ।

    दीन दुखी को गले लगा कर ,

    सब से सुख साझा करना है ।
    वाह!!!!
    बहुत सुन्दर
    नववर्ष की अनंत शुभकामनाएं आपको ।

    जवाब देंहटाएं
  5. सृजन को ऊर्जा प्रदान करती सराहना सम्पन्न प्रतिक्रिया के लिए हार्दिक आभार सुधा जी! नववर्ष की हार्दिक शुभकामनाओं सहित सादर सस्नेह वन्दे ।

    जवाब देंहटाएं
  6. दहलीज़ पर आन खड़ा ,
    साथी पुराना भेस नया ।
    समय के लिए बहुत प्रभावी और प्रेरक प्रस्तुति प्रिय मीना जी।सच में वही है सब, बस कलेन्डर बदलने को आतुर है।नववर्ष की हार्दिक बधाई और शुभकामनाएं।आगत का स्वागत है।ये सभी के लिए मंगलमय और शुभता भरा हो यही दुआ है 🙏♥️

    जवाब देंहटाएं
  7. आपकी स्नेहिल उपस्थिति से सृजन सार्थक हुआ प्रिय रेणु जी ! आपका भी नववर्ष शुभता से परिपूर्ण एवं मंगलमय हो 💐❤️ सृजन को ऊर्जा प्रदान करती सराहना सम्पन्न प्रतिक्रिया के लिए आपका हार्दिक आभार 🙏

    जवाब देंहटाएं
  8. आने वाले साल का स्वागत और जाने वाले कि विदाई .... यूँ तो बस कैलेंडर ही बदलता है , फिर भी एक नई उम्मीद तो जागती ही है । नया वर्ष शुभ हो । सुंदर रचना ।

    जवाब देंहटाएं
    उत्तर
    1. लेखनी को सार्थक करती आपकी स्नेहिल उपस्थिति के लिए आभारी हूँ आ. प्रिय दीदी 🙏 नववर्ष की अनन्त शुभकामनाएँ 💐

      हटाएं

  9. दहलीज़ पर आन खड़ा ,

    साथी पुराना भेस नया ।

    स्वागत का थाल सजाएँ ,

    कुछ सुने और कुछ सुनाएँ।
    ... नए साल के स्वागत में रचित सुंदर सार्थक रचना ।
    नव वर्ष की हार्दिक शुभकामनाएं और बधाई प्रिय मीना जी ।

    जवाब देंहटाएं
    उत्तर
    1. सृजन को सार्थक करती आपकी सराहना सम्पन्न प्रतिक्रिया के लिए हार्दिक आभार एवं नववर्ष की हार्दिक शुभकामनाएँ प्रिय जिज्ञासा जी 💐

      हटाएं
  10. सराहना सम्पन्न प्रतिक्रिया के लिए हार्दिक आभार आ. ओंकार सर ॥नववर्ष की हार्दिक शुभकामनाएँ 🙏

    जवाब देंहटाएं
  11. नववर्ष की हार्दिक शुभकामनायें ... बहुत खूब लिखा आपने...कि-
    सारे कर्तव्य हमारे लिए ,

    कुछ तुम भी तो निभाओ ।

    सदा अपनी ही नहीं ,

    औरों की भी सुनते जाओ।...वाह

    जवाब देंहटाएं
    उत्तर
    1. नववर्ष की हार्दिक शुभकामनाओं सहित हृदय से असीम आभार अलकनन्दा जी सराहना सम्पन्न प्रतिक्रिया हेतु । सादर सस्नेह वन्दे ।

      हटाएं
  12. सुंदर कविता
    नव वर्ष पर हार्दिक शुभकामनाएं और बधाई।

    जवाब देंहटाएं
    उत्तर
    1. बहुत बहुत आभार अनुज सराहना सम्पन्न प्रतिक्रिया हेतु । आपको भी नववर्ष की हार्दिक शुभकामनाएँ 🙏

      हटाएं
  13. नववर्ष की हार्दिक शुभकामनाएँ एवं बधाई ।

    जवाब देंहटाएं
    उत्तर
    1. आपको भी नववर्ष की हार्दिक शुभकामनाएँ ।

      हटाएं
  14. सुंदर सार्थक रचना ।

    नव वर्ष की हार्दिक शुभकामनाएं और बधाई ll

    जवाब देंहटाएं
  15. सराहना सम्पन्न प्रतिक्रिया के लिए हार्दिक आभार अनुज ! नववर्ष की हार्दिक शुभकामनाएँ 🙏

    जवाब देंहटाएं

मेरी लेखन यात्रा में सहयात्री होने के लिए आपका हार्दिक आभार 🙏

- "मीना भारद्वाज"