Followers

Copyright

Copyright © 2019 "मंथन"(https://shubhrvastravita.blogspot.in/) .All rights reserved.

बुधवार, 25 दिसंबर 2019

"सायली छंद"

Merry Christmas to all of you 🎅

एक प्रयास सायली छंद लिखने का… , भावाभिव्यक्ति के लिए शब्दों का क्रम - 1,2,3,2,1रहेगा ।

(1)

जिन्दगी
तेरे इम्तिहान
कितने अभी बाकी
बावरा मन
पूछे...

(2)

चलो
फिक्र को
फूंक से उड़ाएँ
थोड़ा हँसे
खिलखिलाएँ...

(3)

अंजुरी
भर ख्वाब
मुट्ठी में बन्द
चमकते जुगनुओं
जैसे...

(4) 

स्मृतियों
का सूत
जीवन रुपी चरखा
कातता रहता
अनवरत...

★★★

10 टिप्‍पणियां:

  1. बहुत सुंदर मनोभाव, "स्मृतियों
    का सूत"

    बिशेषकर

    जवाब देंहटाएं
    उत्तर
    1. उत्साहवर्धन के लिए बहुत बहुत आभार राकेश जी ।

      हटाएं
  2. बहुत सुंदर ,लाज़बाब ,सादर नमन मीना जी

    जवाब देंहटाएं
    उत्तर
    1. स्नेहाभिवादन सहित हार्दिक आभार कामिनी जी !

      हटाएं
  3. Thanks for selecting my blog for your yearly blogs selection. Thanks a lot Mam.

    जवाब देंहटाएं
  4. बहुत कमाल की क्षणिकाएं हैं ...
    सयाली छंद ... एक नै जानकारी मिली आज ... नइ विधा की ...

    जवाब देंहटाएं
  5. bahut achhhe chhand kse hain aapne..ek se badh kr ek ...

    स्मृतियों
    का सूत
    जीवन रुपी चरखा
    कातता रहता
    अनवरत...

    ye khaakar bahut psnd aaya

    जवाब देंहटाएं
  6. Thank you so much Joya ji...Kai baar gayi hoon aapke blog par.. aapki rachanaon ki pratiksha rahti hai.

    जवाब देंहटाएं


“मेरी लेखन यात्रा में सहयात्री होने के लिए आपका हार्दिक आभार…. , आपकी प्रतिक्रिया‎ (Comment ) मेरे लिए अमूल्य हैं ।”

- "मीना भारद्वाज"