Followers

Copyright

Copyright © 2019 "मंथन"(https://shubhrvastravita.blogspot.in/) .All rights reserved.

मंगलवार, 13 फ़रवरी 2018

“शिव स्तुति” (हाइकु)"

जै त्रिपुरारि
जै जै शिव शंकर
भोले भण्डारी

काशी के वासी
जै नीलकंठधर
त्रिनेत्र धारी

जै गंगाधर
प्रकृति के रक्षक
शशि शेखर

गौरी के प्रिय‎
कैलाश अधीश्वर
विष्णु वल्लभ

करें वन्दन
यक्ष, देव, गन्धर्व
जड़- चेतन

भक्त मगन
शिवरात्रि पावन
मन भावन

    xxxxxxx

2 टिप्‍पणियां:

  1. जय भोले भंडारी ...
    लाजवाब हाइकू भोले के भोलेपन पर ...

    जवाब देंहटाएं
    उत्तर
    1. हार्दिक धन्यवाद नासवा जी.आपको स्तुति पसन्द आई, मेरा लिखना सफल हुआ.

      हटाएं


“मेरी लेखन यात्रा में सहयात्री होने के लिए आपका हार्दिक आभार…. , आपकी प्रतिक्रिया‎ (Comment ) मेरे लिए अमूल्य हैं ।”

- "मीना भारद्वाज"