Followers

Copyright

Copyright © 2019 "मंथन"(https://shubhrvastravita.blogspot.in/) .All rights reserved.

मंगलवार, 15 अगस्त 2017

"रक्षक"

हमारी मातृभूमि के रक्षक वीर जवानों को स्वतन्त्रता दिवस पर समर्पित एक छोटी सी रचना –
हिम किरीट के रक्षक तुम,तुझ में शक्ति अपार
तुम से रक्षित गौरव राष्ट्र का, तुझे वन्दन बारम्बार
हे मातृभूमि रक्षक तुझे प्रणाम !
उतंग गिरि ,बर्फीली राहें,तुम सरहद के पहरेदार
दुर्गम मरुस्थल,निर्जन कानन,तुम नैया खेवनहार
हे जन्मभूमि रक्षक तुझे प्रणाम !
Happy Independence day to all.
xxxxx

4 टिप्‍पणियां:


“मेरी लेखन यात्रा में सहयात्री होने के लिए आपका हार्दिक आभार…. , आपकी प्रतिक्रिया‎ (Comment ) मेरे लिए अमूल्य हैं ।”

- "मीना भारद्वाज"